राजस्थान में महंगे इलाज से निजात दिलाने के लिए लागू होगी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना

राजस्थान के सभी निवासियों को बीमारियों के इलाज के भारी-भरकम खर्च से मुक्ति दिलाने के लिए राज्य की कांग्रेस सरकार आगामी 1 मई से मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना लागू करने जा रही है। इसके तहत प्रत्येक परिवार को सरकारी और योजना से संबद्ध निजी अस्पतालों में भर्ती होने पर प्रतिवर्ष 5 लाख रुपये तक के उपचार की सुविधा मिल सकेगी। योजना में पंजीयन के लिए एक अप्रैल से ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर लगाए जाएंगे। इनमें कोई भी व्यक्ति अपना रजिस्ट्रेशन करवा कर योजना से जुड़ सकता है। स्वास्थ्य बीमा योजना में पहले से लाभान्वित हो रहे राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक-आर्थिक जनगणना के पात्र परिवारों को पंजीयन कराने की आवश्यकता नहीं है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस बारे में विगत शनिवार को मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित योजना की समीक्षा बैठक में आदेश दिया कि योजना को लागू करने के लिए आवश्यक तैयारियां शीघ्र पूरी की जाएं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा और जांच योजना से मरीजों को पहले से ही ओपीडी सेवाओं में निःशुल्क चिकित्सा का लाभ मिल रहा है। अब चिरंजीवी योजना से प्रदेश के लोग इलाज पर होने वाले बडे़ खर्चें से मुक्त हो सकेंगे। लोगों को सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ इस योजना से जुड़े निजी अस्पतालों में भर्ती होने पर निःशुल्क उपचार मिल सकेगा।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को योजना की जमीनी स्तर पर सफल क्रियान्विति करने के लिए दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। आमजन तक योजना की जानकारी पहुंचाने के लिये विशेष प्रयास हों। यह सुनिश्चित किया जाए कि राज्य सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना से कोई भी पात्र परिवार वंचित नहीं रहे।

इस मौके पर उपस्थित चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना के पात्र लाभार्थियों के साथ-साथ संविदाकर्मियों, लघु एवं सीमांत कृषकों को भी योजना में चिकित्सा सुविधा का लाभ निःशुल्क मिल पायेगा। इसके अलावा प्रदेश के अन्य सभी परिवारों को बीमा प्रीमियम की 50 प्रतिशत राशि पर 5 लाख रूपये तक चिकित्सा सुविधा का लाभ मिल सकेगा। इसके लिए लोग 1 अप्रैल से स्वयं ऑनलाइन अथवा ई-मित्र पर जनआधार से लिंक प्लेटफॉर्म के माध्यम से पंजीयन करवा सकते हैं।

बैठक में राजस्थान स्टेट हैल्थ एश्योरेंस एजेंसी की सीईओ अरुणा राजोरिया तथा संयुक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी काना राम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

हमसे जुड़ें

502FansLike
5FollowersFollow

ताजातरीन

सम्बंधित ख़बर