Home सम्पादकीय

सम्पादकीय

संबंधित ख़बरें

चिराग के तेज को और बढ़ाएगा ‘एकला चलो’ का संकल्प

चिराग पासवान ने बिहार विधानसभा के चुनाव में 'एकला चलो' का जो संकल्प लिया है उसके बाद से ही उनके इस निर्णय के सियासी...

चिराग के कंधे पर बन्दूक रख नीतीश पर निशाना साध रही है भाजपा

लंबे इंतजार और अनिश्चय के बाद बिहार में राजनीतिक दलों की खेमेबंदी अब स्पष्ट हो चली है। सभी दलों ने अपने अपने समीकरण और...

वर्तमान भारत में युवा एवं गायब होती कृषि संस्कृति

रामचंद्र कुमार| झारखण्ड का पाट क्षेत्र सुंदर पहाड़ियों के लिए प्रसिद्ध है. एक पहाड़ी के दूसरी ढलान पर जहाँ से टांड भूमि शुरू होती...

क्रियान्वयन में सकारात्मक नियत तय करेगी नई शिक्षा नीति, 2020 की सफलता

रामचंद्र कुमार| बदलते सामाजिक, आर्थिक, तकनीकी एवं पर्यावरणीय परिस्थिति में समकालीन समाज के अनुरूप प्रत्येक स्तर पर शिक्षा व्यवस्था को पुनर्संरचित एवं पुनर्व्यवस्थित कर...

आखिर क्यों विवादों के घेरे में है ‘उत्तर प्रदेश स्पेशल सेक्युरिटी फोर्स एक्ट’

उत्तर प्रदेश स्पेशल सेक्युरिटी फोर्स (UPSSF) एक्ट 2020 के मानसून सत्र में पास होने और 28 अगस्त को इसपर राज्य के राज्यपाल द्वारा मंजूरी...

आरक्षण समाप्त करने की साजिश का हिस्सा है ठेके पर बहाली और जबरन सेवानिवृत्ति की व्यवस्था

पहले सरकारी कर्मचारियों को 5 वर्षों तक संविदा पर रखने और अब 50 वर्ष की आयु पूरी कर चुके कर्मचारियों की दक्षता जाँच के...

एससी/एसटी आरक्षण का उपवर्गीकरण: अदालती फैसले से जुड़ी शंकाएं और समस्याएं

जस्टिस अरूण मिश्रा की अध्यक्षता वाली सर्वोच्च न्यायालय की 5 सदस्यीय पीठ द्वारा एससी/एसटी आरक्षण के अंदर कोटा लागू करने को लेकर दिए गए...

एक स्वस्थ लोकतंत्र के लिए जरुरी है अंतर-विश्वास संवाद

रामचंद्र कुमार| 'भारत' शब्द महज़ एक देश का नाम नहीं है बल्कि एक साझी संस्कृति, साझी विरासत और अत्यंत व्यापक मानवीय मूल्यों की अनुपम...

ताजातरीन